Loading...

Category: Tinka Tinka Editorial

राजनेताओं की जमात और जेलों की स्थिति

कई बार सुपरिंटेंडेंट का सख्त होना या फिर कानून में फेरबदल करने से मना करना भी उनके लिए परेशानी का सबब बन जाता है. यह तस्वीर का एक पक्ष है. [ … ]

तिनका तिनका: जबलपुर की जेल और पुष्प की अभिलाषा

देश की आजादी के दैरान देश भर के कई साहित्यकारों और स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को जेल-यात्रा करनी पड़ी. इस कड़ी में पंडित माखनलाल चतुर्वेदी का नाम भी विशेष उल्लेखनीय [ … ]

जेल में जफर: जिसे न जमीन मिली, न कलम

रंगून में अंग्रेजों की कैद में रहते हुए उन्होंने ढेरों गजलें लिखीं. बतौर कैदी अंग्रेजों ने उन्हें कागज-कलम तक मुहैया नहीं की थी. तब यह क्रांतिकारी शासक कोयले और जली हुई [ … ]

तिनका तिनकाः जेपी की जेल डायरी और जेलों में एकाकीपन

इस समय मेरे हाथों में खाकी जिल्द लिए जो किताब है, उसका शीर्षक है- मेरी जेल डायरी’. जय प्रकाश नारायण की 1977 में प्रकाशित हुई चर्चित आत्मकथा ‘मेरी जेल डायरी’ [ … ]

महिलाएं और ओपन जेल : तिहाड़ से उम्मीद की एक किरण : वर्तिका नन्दा

यह कम ताज्‍जुब की बात नहीं है कि देश की सबसे पुरानी जेलों में से एक और दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी जेल तिहाड़ को महिलाओं को ओपन जेल तक लाने में इतने सालों [ … ]

जेलों की बेकाबू भीड़ और सुप्रीम कोर्ट की जायज चिंताएं

तिनका तिनका:   अप्रैल 9, 2018 डॉ. वर्तिका नन्दा इस समय देश की ज्यादातर जेलों में अपनी निर्धारित क्षमता से कहीं ज्यादा कैदी हैं. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्‍यूरो की 2015 की [ … ]

खुली जेलों पर सुप्रीम कोर्ट, मीडिया और मानवाधिकार

दरअसल खुली जेल एक ऐसी जेल होती है जिसमें जेल के सुरक्षा नियमों को काफी लचीला रखा जाता है. ऐसी जेलें आमतौर से केंद्रीय जेल से बाहर स्थापित की जाती [ … ]

Editor's choice